Breaking News

पहली चुदाई में रंडी को चोदा

हॉट कॉल गर्ल पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने पहले सेक्स में एक रण्डी की चूत मारी. वो 25 साल की गोरी चिट्टी बड़ी बड़ी चूचियों वाली मस्त लड़की थी.

दोस्तो, मेरा नाम आकाश है और आज मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने पहली बार एक रंडी को चोदा.
मैं चाहता हूँ कि आप सब इस कहानी में अपने आपको मेरी जगह महसूस करें.

ये हॉट कॉल गर्ल पोर्न स्टोरी उन दिनों की है जब मैं बीस साल का था.
उस समय जहां मैं रहता था, वहां पहली बार मैंने एस्कार्ट सर्विस का मजा लिया और उधर की रंडी के साथ वो मेरी पहली चुदाई थी.
उससे पहले मैं सिर्फ चुदाई की वीडियो देखकर लंड हिलाता था.

जब मैं वहां गया, तो एक आदमी मुझे मिला.
उसका नाम सुमित था.
उसे मैंने पैसे दिए और वो मुझे एक कमरे तक ले गया.

कमरे का दरवाजा बंद था, मैंने धक्का दिया तो वो अन्दर से खुला था.

मैं धीरे से अन्दर गया और दरवाजा बंद दिया.
मैंने देखा कि कमरे में एक लगभग 25 साल की लड़की बैठी थी जिसका रंग एकदम गोरा था.
उसकी बड़ी बड़ी चूचियां थीं और गांड तो बिल्कुल तरबूज की तरह थी.

उसने एक लाल रंग का सलवार सूट पहना हुआ था, उसने सीने पर एक दुपट्टा डाला हुआ था.
उस कमरे में एक बिस्तर लगा था और खिड़की से हल्की सी रोशनी आ रही थी.

मैं उसके पास जाकर बैठ गया.

वो मुझे देख कर मुस्कुरा दी.
मैंने झिझक के साथ उसकी तरफ देखा.
चूंकि ये मेरा पहली बार का मामला था तो मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था कि कैसे शुरू करूं.
वो उठ गई और बिस्तर पर बैठ गई.

उसने मुझे देख कर मेरी तरफ उंगली से करीब आने का इशारा किया.
मैं उसकी तरफ आ गया.

उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे खींच कर अपने करीब बिठा लिया.
मैं उसके पास बैठ गया.

वो मुझे कातिल नजरों से देखने लगी.
एक पल बाद उसने अपना सीना उठा कर मुझे कुछ इशारा सा किया.

मैंने पहल करते हुए उसका दुपट्टा पकड़ा और उतार कर हटा दिया.
वो मुस्कुरा दी.

मैंने धीरे से अपना मुँह बढ़ाया और उसके गले को चूमने लगा.
उसने हल्की सी आह करके मेरे सर को अपने करीब खींच लिया.
मैं उसके मुँह के सामने अपना मुँह ले गया और उसके होंठों को अपने होंठों से दबा कर चूसने लगा.

मुझे सच में एकदम से सब करना आ गया. मुझे चुदाई की फ़िल्में और सेक्स कहानी याद आने लगीं और मैं आगे बढ़ता गया.

हम दोनों का चुम्बन काफी देर तक चला.

जब वो गर्म हो गयी, तो मैं उसके होंठों से नीचे आते हुए उसके गले को चाटने लगा.
वो रंडी भी मेरा पूरा साथ देने लगी.

मैंने 5 मिनट तक उसके गले और छाती को चाट चाट कर थूक से गीला कर दिया.
उसने भी मेरे साथ ऐसा ही किया.

वो धीमे से बोली- मेरे कपड़े उतारो.
मैंने उसके सलवार सूट को उतारा और उसे सिर्फ ब्रा और पैंटी में कर दिया.

वो मेरी तरफ कामुकता से देख कर अंगड़ाई लेने लगी.
उसकी ब्रा में कैद उसके दूध मुझे बेहद कामुक लग रहे थे.

उसने अपने दूध हिलाए और बोली- कैसे लगे?
मैंने कहा- मस्त हैं. इतने बड़े कितने दिन में हुए?

वो हंसी और बोली- क्यों, तुझे भी करवाने हैं क्या?
मैं हंस दिया.

उसने मेरे गाल पर एक चिकोटी ली और बोली- चल चिकने, अब चालू हो जा!
मैंने कहा- मैं नया खिलाड़ी हूँ.

वो मेरी तरफ देख कर बोली- हां, तेरी हरकतें बता रही हैं कि तेरा पहली बार का मामला है.
मैंने कहा- हां, तुमने सही समझा है.

उसने बांहें फैला दीं.
मैंने उसे चूमना चाटना शुरू किया.

गले से होते हुए पेट को, हाथों को चाटते हुए मैंने उस रंडी को पीछे घुमाया और कंधे को, गले को और पीठ को भरपूर चाटा.

फिर मैं उसके पैरों की तरफ गया.
उसके पैर की उंगलियों को मुँह में लेकर चूसा और पूरे पैर को चाटा.
अब मैंने उसे सीधा किया और होंठों को एक बार फिर से चूसा.

वो कहती जा रही थी- तू मस्त चाटता है … क्या अभी तक खाली चुम्मी करने की ट्रेनिंग ली है?
मैंने कहा- हां, यही समझ लो.

उसके बाद मैंने उसका हाथ पीछे किया और देखा कि उसकी बगल एकदम चिकनी थी और उस पर थोड़े बहुत ही छोटे छोटे से बाल थे.
मैंने धीरे से उसकी बगल में अपनी जीभ लगाई और चाटने लगा, इससे उसकी सिसकारियां और भी तेज होने लगीं.

उसे बहुत मजा आ रहा था, शायद पहले कभी किसी ने उसके साथ ऐसा किया ही नहीं था.

मैं उसकी बगल जोर से चाटने लगा.
उसने मेरा सर अपनी बगल में दबाते हुए कहा- आह, चाटो और चाटो … चूस लो मुझे … अपने थूक से पूरा भिगो दो मुझे. तू मजेदार है.

मैं भी उसे पागलों की तरह चाट रहा था, कभी बगल में कभी सीने पर तो कभी गले पर मस्ती से चाटने चूमने लगा.
फिर ऐसे ही मैंने उसकी दूसरी बगल भी चाटी.

अब मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया और उसने मेरी शर्ट और पैंट को.
मैं बस अंडरवियर में था.

उसके दोनों मम्मों को मैं अपने हाथों से मसलने लगा.
आज मैं पहली बार किसी लड़की की चूचियों को छू रहा था.

फिर मैंने उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.
वो आह आह करने लगी.

अब मैं उसकी पैंटी की तरफ गया, पहले तो मैंने ऊपर से ही उसकी खुशबू महसूस की, फिर थोड़ी देर पैंटी के ऊपर से ही चूमा.
मुझे मजा आया, तो मैंने उसकी पैंटी को उतार दिया और चूत में नाक लगा कर अच्छी तरह से सूँघा.

ये सब मेरे लिए पहली बार था और मुझे चरम सुख की अनुभूति हो रही थी.
मैंने उसकी चूत को देखा, उस पर भी थोड़े थोड़े बाल थे.

उसकी चूत बहुत ही गोरी और मुलायम थी.
मैंने उसे हाथों से छुआ और चूत को खोलकर अच्छे से देखा, उसकी टांगें उठाईं, तो उसकी गांड का छेद भी दिखने लगा.

मैं उसे कुछ देर यूं ही देखता रहा फिर ऊपर चला गया, ऊपर आकर मैं उसके होंठों और बगलों को चूसने लगा.

उस वक्त भी मेरा हाथ उसकी चूत को सहला रहा था.
वो कुछ ही पलों में एकदम से गर्मा गई और जोर जोर से चीखने लगी- आह, चाटो मुझे … चूस लो मेरे शरीर के हर एक हिस्से को … और हर एक छेद को. मैं तुम्हारी पर्सनल रखैल बनना चाहती हूँ. अपनी रंडी को अपने साथ ले चलो आह तुम मुझे दिन भर बस ऐसे ही चूसते रहना. ले चलो मुझे अपने साथ.

मैंने भी उससे हां कहते हुए कहा- तू मेरे साथ चलेगी, तो तेरी दुकान बंद हो जाएगी.
उस पर उसने एक बात कही- तू जानता नहीं है कि एक औरत को क्या चाहिए होता है.

मैंने कहा- क्या चाहिए होता है, बता?
वो बोली- एक औरत को पेट के लिए रोटी और चूत को लौड़े का प्यार जरूरी होता है. बस ये ही दो चीजें औरत को सुख देती हैं.
मैं हंस दिया.

फिर मैंने अपनी उंगली उसके मुँह में डालकर उसके थूक से पूरी भरी और उसकी बुर में उंगली को डाल दिया.
करीब दस मिनट तक मैंने अपनी उंगली को उसकी बुर में अन्दर बाहर किया और फिर से उसके मुँह में डाल दिया.

इस बार मैंने उसकी गांड को उंगली से चोदा. फिर मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसकी चूत के पास आ गया.
मैंने अपना मुँह उसकी चूत में लगा दिया और उसकी चूत के छेद के अन्दर तक अच्छी तरह से चाटने लगा.

ऐसा होते ही उसने मेरा मुँह अपनी चूत में कसके दबा दिया और कहने लगी- खा जाओ मेरी चूत को, प्लीज काटो इसे … खा जाओ.
ये सब सुनकर मैं और जोर से चूसने लगा.
ऐसे ही मैंने उसकी गांड भी चाटी.

कुछ देर बाद उसने मुझे लिटा दिया और मेरे ऊपर आकर मुझे चाटने लगी.
वो बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी.

उसने अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया और साथ ही मेरे होंठों को भी चूसने लगी.

मेरा लगभग सात इंच का लंड एकदम कड़क हो गया था.
उसने मेरी अंडरवियर के अन्दर हाथ डाला.

ये पहली बार था जब मेरे लंड को किसी लड़की ने छुआ था.
इसी जोश में मैं उसके होंठों को काटने लगा और फिर से उसकी बगल को थूक से गीला कर दिया.

अब वो मेरे लंड को मुँह में लेकर उसे चूसने लगी. मुझे बहुत मजा आ रहा था.
करीबन 5 मिनट तक उसने मेरा लंड चूसा और अपने थूक से उसे सराबोर कर दिया.

फिर वो शुरू हुआ, जिसका उस वक़्त मुझे इन्तजार था.
मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसकी चूत को थोड़ा सहलाया.

एक उंगली से चूत को चोदा, फिर मैंने उसके मुँह से थूक लेकर अपने लंड पर लगाया और अपने लंड से उसकी चूत पर मारने लगा.
उसकी कामुकता चरम सीमा पर पहुंच गयी और वो मुझसे चोदने की कहने लगी.

मैंने भी उस रंडी को काफी तड़पा लिया था. अब मैंने उसकी चूत में लंड डाल दिया.
मेरा लंड चूत की गहराई में खो गया.

वो शायद चुदाई की माहिर खिलाड़ी थी तो उसके मुँह से बस हल्की सी आह निकली और उसने लंड को अपनी चूत में कहीं छिपा लिया.

ये मेरे लिए चुदाई का मेरा पहला अनुभव था जो मुझे भी तृप्ति दे रहा था.

मैंने उसे चोदना चालू कर दिया. उसी पोजीशन में मैंने उसे दस मिनट तक चोदा.

फिर मैंने अपनी एक उंगली को उसके मुँह में डाल दिया.
वो मेरी उंगली को चूसने लगी.

मैंने उसके थूक से भीगी हुई उंगली को बाहर निकाल लिया और उसकी गांड में अपनी उंगली को डाल दिया.

वो उन्ह करके मुस्कुरा दी और धीमे से बोली- मालगाड़ी भी चलाना है क्या?
मैं समझ गया कि गांड मारने को ये मालगाड़ी चलाने की बात कह रही है.

मैंने पूछा- अभी कौन सी गाड़ी चल रही है?
वो हंस कर बोली- अभी यात्री गाड़ी चल रही है, ज्यादातर यही चलती है.

मैं भी हंस कर कहा- अभी मालगाड़ी भी चलाने का मजा लूंगा.
वो बोली- ओके.

मैं उसे आगे से चोदने में लगा रहा.

कुछ देर बाद मैंने उससे घूमने को कहा और अपना लंड धीरे से उसकी गांड में पेल दिया.
लंड अन्दर घुसा, तो वो थोड़ा कराहने लगी हॉट कॉल गर्ल पोर्न चुदाई का मजा लेने लगी.

मैंने धीरे धीरे स्पीड बढ़ाई और साथ ही उसकी पीठ, बगल, गले हाथों और चूचियों को पूरे जोश से चूस और चाटता जा रहा था.
कुछ ही देर में कामुकता बढ़ गई और अब हम दोनों बिल्कुल जानवरों की तरह एक दूसरे को खा रहे थे.

उसके बदन में से आने वाली उसके पसीने की खुशबू तो मुझे पागल कर रही थी.
हम दोनों की ये चुदाई काफी देर तक चली. इस बीच मैंने उसे कई अलग अलग आसनों में चोदा.

अंत में जब मैं झड़ने ही वाला था तो उसने मेरा लंड बाहर निकलवाया और लंड मुँह में लेकर सारा रस पी लिया.
आखिर में हमने एक दूसरे को किस किया और इस तरह हमारी चुदाई खत्म हो गयी.

अब आगे कैसे मैंने वहां के मालिक की मां को चोदा, ये आप सबको मैं अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा.

No comments